18 C
New Delhi
Wednesday, March 3, 2021

वेब सीरीज के नाम पर बना रहे थे पॉर्न फिल्म, बिलेन बनी पुलिस

–बंगले में चल रही थी फिल्म की शूटिंग, पहुंच गई पुलिस
–अरेस्ट हुई महिला ने बताया वेब सीरीज के नाम पर बनती थीं गंदी फिल्में

मुंबई /टीम डिजिटल : कोरोना के चलते देशभर में हुए लॉकडाउन और इस बीच शुरू हुए बेव सीरिज का खेल अब पॉर्न फिल्म तक पहुंच गया है। नई फिल्मों की सूटिंग बंद होने और सिनेमाघरों पर लगे ताले ने बेब सीरिज को जबरस्त रिस्पांस दिया। यही कारण है कि हर कोई बेबसीरिज बनाने लगा।
बॉलिवुड में काम की तलाश के लिए संघर्ष कर रहे मॉडल्स को वेब सीरीज में रोल का वादा करके उनसे पॉर्न फिल्में बनवाई जाने लगी है। मुंबई पुलिस ने पॉर्न फिल्में बनाने वाले एक ऐसे गिरोह का भंडाफोड़ किया है जो बेब सीरिज के नाम पर पॉर्न फिल्में बनाता था। पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया है।इसके बाद ये लोग इन गंदी फिल्मों को सोशल मीडिया ऐप्स और वेबसाइट्स पर अपलोड करते थे। क्राइम ब्रांच के प्रोपर्टी सेल के एक अधिकारी ने शुक्रवार यह जानकारी दी। गिरफ्तार किए गए लोगों में एक हीरो, एक लाइट मैन और एक महिला फोटोग्राफर और ग्राफिक डिजाइनर शामिल हैं। मलाड के माध इलाके में एक बंगले पर छापेमारी के दौरान ये लोग पकड़े गए।

यहां मोबाइल फोन के कैमरों की मदद से पोर्न फिल्म की शुटिंग चल रही थी। कार्रवाई के दौरान एक महिला को गिरोह से मुक्त कराया गया है। गिरफ्तार की गई महिला ने बताया कि वह सीन को शूट करने के बाद इन्हें इंटरनेट और सोशल मीडिया ऐप्स पर अपलोड करती थी। लोगों को सब्सक्राइम करने के लिए कहा जाता था और इन्हें दिखाने के बदले उनसे पैसे लिए जाते थे।
पुलिस ने बताया कि छह मोबाइल फोन, एक लैपटॉप, कैमरा, संबंधित उपकरण, मेमोरी कार्ड्स आदि जब्त किए गए हैं, जिनकी कीमत 5.68 लाख रुपए है। आरोपियों के अकाउंट में जब्त 36.60 लाख रुपए भी फ्रीज कर दिए गए हैं। आरोपियों के खिलाफ आईपीसी और आईटी ऐक्ट की धाराओं में केस दर्ज किया गया है। सभी को 10 फरवरी तक रिमांड पर भेज दिया गया है।
बता दें कि मुंबई में संघर्षरत मॉडल एवं अभिनेताओं के साथ पोर्न फिल्म बनाने एवं सोशल मीडिया एवं वेबसाइट पर अपलोड करने के आरोप में सभी पर कार्रवाई की गई है। अधिकारी ने बताया, आरोपियों के खिलाफ संपत्ति प्रकोष्ठ के एपीआई लक्ष्मीकांत सालुंके की शिकायत के आधार पर मालवानी पुलिस ने भारतीय दंड संहिता, सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम एवं स्त्री अशिष्ट रुपण प्रतिषेध अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। उन्होंने बताया कि आरोपियों को 10 फरवरी तक हिरासत में भेज दिया गया है।

Related Articles

epaper

Latest Articles