23.6 C
New Delhi
Wednesday, May 12, 2021

लाखों कोविड मरीजों की ‘सांसे ’ पहुंचाएगा Indian रेलवे, मिलेगा ‘जीवनदान’

—तेज गति से दौडेगी ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन, ग्रीन कॉरिडोर तैयार
—आज हो सकती है शुरुआत, 10 खाली टैंकर मांगे
—तीन शहरों विजाग, अंगुल और भिलाई में बनेंगे रैंप
—रेलवे ने रविवार को किया परीक्षण, मंत्रालय ने सभी महाप्रबंधकों को दिए निर्देश

(खुशबू पाण्डेय)
नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : देशभर में कोरोना से मचे हाहाकार और आक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए भारतीय रेलवे ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाने जा रहा है। इसके जरिये भारतीय रेलवे मरीजों की सांसे पहुंचाएगा। रविवार को रेलवे ने पूरी तैयारी कर ली है। महाराष्ट, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली सहित जिन राज्यों में आक्सीजन की ज्यादा डिमांड ज्यादा है, उनके लिए तेज गति से ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनें चलाने के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया है। इसी के जरिये ट्रेनों से देशभर में लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन और ऑक्सीजन सिलेंडर डिलीवर किया जाएगा। इस विशेष अभियान के लिए भारतीय रेलवे ने रविवार को बोईसर (पश्चिम रेलवे) में एक परीक्षण किया, जहां एक भरे हुए टैंकर को एक फ्लैट डीबीकेएम पर रखा गया और सभी जरूरी माप की गई। रेलवे ने विभिन्न स्थानों पर टैंकरों की रवानगी की संभावनाओं को देखते हुए पहले ही कलंबोली और अन्य स्थानों पर डीबीकेएम वैगन पहुंचा दिए हैं। 19 अप्रैल को 10 खाली टैंकर भेजने के लिए एक परिवहन योजना तैयार कर ली गई है। देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में जबरदस्त वृद्धि के चलते मेडिकल ऑक्सीजन की मांग बढ़ गई है। अधिकारियों ने कहा कि खाली टैंकर विशाखापत्तनम, जमशेदपुर, राउरकेला और बोकारो से लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन भरने के लिये सोमवार को मुंबई और उसके आसपास कलमबोली और बोइसर स्टेशनों से चलेंगे।

इसके जरिये सभी मुख्य कॉरिडोर पर तरल मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) और ऑक्सीजन सिलेंडर पहुंचाया जाएगा। कोविड संक्रमण में कुछ स्वास्थ्य स्थितियों के उपचार में ऑक्सीजन की उपलब्धता एक मुख्य अंग है। बता दें कि मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र की राज्य सरकारों ने रेलवे द्वारा तरल मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) टैंकर ले जाने की संभावनाएं तलाशने के लिए रेल मंत्रालय से गुहार लगाई थी। इसके बाद रेलवे ने तत्काल तकनीकी स्तर पर एलएमओ की ढुलाई की संभावना का पता लगाया। एलएमओ फ्लैट वैगनों पर रोड टैंकरों के साथ रोल ऑन रोल ऑफ (रो रो) सेवा के माध्यम से पहुंचाए जाने हैं।

यह भी पढें…रेलवे स्टेशनों एवं चलती ट्रेनों में मास्क पहनना अनिवार्य, लगेगा 500 रुपये जुर्माना

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, टैंकर हासिल करने और लोड करके उन्हें वापस भेजने की तैयारी सुनिश्चित करने के लिए क्षेत्रीय रेलवे केन्द्रों को निर्देश जारी किये गए हैं। विशाखापत्तनम, अंगुल और भिलाई में रैंप तैयार किये जा चुके हैं। कलमबोली में पहले से मौजूद रैंप को मजबूत बनाया जा रहा है। मंत्रालय ने कहा, कलमबोली रैंप 19 अप्रैल तक तैयार हो जाएगा। अन्य स्थानों पर भी टैंकरों के पहुंचने से पहले रैंप तैयार हो जाएंगे।
बता दें कि क्रायोजेनिक टैंकरों में एलएमओ की रो रो संचालन के लिए वाणिज्यिक बुकिंग और भाड़े का भुगतान सुनिश्चित करने के क्रम में, रेलवे ने इस मसले पर हर जरूरी विवरण और मार्गदर्शन उपलब्ध कराने के लिए 16 अप्रैल को एक सर्कुलर जारी किया था।

यह भी पढें…रेलवे ने दिल्ली को दिये 1200 बिस्तर वाले 75 कोविड कोच

इसके बाद ‘तरल मेडिकल ऑक्सीजन की ढुलाई से संबंधितमुद्दों’ के विषय पर 17 अप्रैल को रेलवे बोर्ड के अधिकारियों और राज्य परिवहन आयुक्तों की उद्योग जगत के प्रतिनिधियों के साथ एक बैठक हुई थी। उसमें यह फैसला लिया गया था कि टैंकर की व्यवस्था परिवहन आयुक्त, महाराष्ट्र द्वारा की जाएगी। ये खाली टैंकर कलंबोली, बोइसर, मुंबई और आसपास के रेलवे स्टेशनों से भेजे जाएंगे तथा तरल मेडिकल ऑक्सीजन के लदान के लिए उन्हें विजाग और जमशेदपुर, राउरकेला एवं बोकारो भेजा जाएगा। रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक रेलवे ने अपने सभी मंडलों को ट्रेलर्स प्राप्त करने और फिर लदान सुनिश्चित करने के लिए निर्देश जारी कर दिए हैं।

यह भी पढें…देशभर में चलती रहेंगी सभी ट्रेनें, घबनाएं नहीं यात्री

विजाग, अंगुल और भिलाई में रैम्पों का निर्माण किया गया है तथा कलंबोली में मौजूदा रैम्प को मजबूत किया गया है। कलंबोली रैम्प 19 अप्रैल 2021 तक तैयार हो जाएगी। अन्य स्थानों पर भी टैंकरों के पहुंचने तक दो दिन के भीतर वहां रैम्प तैयार हो जाएंगे।
रेलवे बोर्ड ने अपने सभी महाप्रबंधक को पूरी तरह तैयार रहने और रेल द्वारा ऑक्सीजन की आपूर्ति में राज्य व केन्द्र सरकार की एजेंसियों को सक्रिय रूप से सहयोग करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही रेलवे बोर्ड में ईडी, टीटी एफ को नोडल अधिकारी के रूप में नामित कर दिया गया है।

आक्सीजन एक्सप्रेस जल्द चलेगी : पीयूष गोयल

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने साेशल मीडिया पर बताया कि ट्रेनों से देशभर में लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन और ऑक्सीजन सिलेंडर डिलीवर किए जाएंगे। जल्द ही इन ट्रेनों को चलाया जाएगा। गोयल ने कहा कि ऑक्सीजन एक्सप्रेस के लिए लोड हो रहे ऑक्सीजन ट्रकों पर रोल ऑफ करें। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
जी का नेतृत्व, भारत सरकार कोविड—19 रोगियों की मदद के लिए हर संभव प्रयास करने के लिए प्रतिबद्ध है।

Related Articles

epaper

Latest Articles