23.6 C
New Delhi
Wednesday, May 12, 2021

रेलवे ने दिल्ली को दिये 1200 बिस्तर वाले 75 कोविड कोच

—शकूरबस्ती स्टेशन पर 800 बिस्तर की क्षमता वाले 50 कोच उपलब्ध
—400 बिस्तरों की क्षमता वाले 25 कोच आनंद विहार स्टेशन पर रहेंगे
—दिल्ली सरकार ने रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा को लिखा था पत्र

नयी दिल्ली /टीम डिजिटल : उत्तर रेलवे ने दिल्ली को 1200 बिस्तर की क्षमता वाले 75 कोविड केयर कोच तत्काल उपलब्ध कराने का फैसला किया है जिनमें से शकूरबस्ती स्टेशन पर 800 बिस्तर की क्षमता वाले 50 कोच आज उपलब्ध कराये जा रहे हैं और 400 बिस्तरों की क्षमता वाले 25 कोच सोमवार को आनंद विहार रेलवे स्टेशन पर उपलब्ध करा दिये जाएंगे।
दिल्ली सरकार में मुख्य सचिव विजय कुमार देव ने रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा को आज एक पत्र लिख करने कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ते संक्रमण के मद्देनज़र रेलवे से चिकित्सा की पूरी व्यवस्था सहित कोविड कोचों की आपात व्यवस्था करने का अनुरोध किया था। श्री शर्मा ने इस पत्र को त्वरित कार्रवाई के लिए उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल को भेजा था।


जीएम गंगल ने बताया कि शकूरबस्ती रेलवे स्टेशन पर 50 कोच तैयार हालत में थे जिन्हें दिल्ली सरकार को सौंपने के लिए पत्र भेज दिया गया है। प्रति कोच 16 लोगों के हिसाब से 800 बिस्तर उपलब्ध होंगे। प्रति कोच दो ऑक्सीजन सिलेंडर भी उपलब्ध कराये गये हैं। दिल्ली सरकार चाहे तो अधिक ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करा सकती है। उन्होंने कहा कि आनंद विहार स्टेशन पर एक प्लेटफॉर्म पर 25 कोच सोमवार को लगा कर उन्हें दिल्ली सरकार को सौंप दिया जाएगा जिसमें 400 बिस्तर की क्षमता होगी।
दिल्ली सरकार द्वारा पांच हजार बिस्तर की क्षमता के लिए आग्रह किये जाने के बारे में पूछे जाने पर महाप्रबंधक ने कहा कि फिलहाल 1200 बिस्तरों की क्षमता सहित 75 कोच उपलब्ध कराये जा रहे हैं। उत्तर रेलवे लगातार दिल्ली सरकार के संपर्क में रहेगी और जरूरत महसूस होने पर अधिक कोविड कोच भी उपलब्ध कराये जाएंगे। यदि आवश्यकता महसूस हुई तो आनंद विहार स्टेशन से गाड़ियों के परिचालन को दिल्ली के किसी अन्य स्टेशन पर स्थानांतरित कर दिया जाएगा अथवा अन्य स्टेशनों पर कोविड कोच भेजे जाएंगे।

रेलवे के कोविड केयर कोच हलके लक्षणों वाले रोगियों के लिए डिजायन

GM ने कहा कि गत वर्ष उत्तर रेलवे ने दिल्ली के नौ स्टेशनों पर आठ हजार बिस्तर की क्षमता वाले कोविड कोच उपलब्ध कराये थे लेकिन जून 2020 से लेकर जनवरी 2021 तक केवल 857 बिस्तरों का उपयोग हुआ था जिनमें से 92 रोगियों को आगे के उपचार के लिए अस्पताल भेजना पड़ा था। एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि रेलवे के कोविड केयर कोच दरअसल हलके लक्षणों वाले रोगियों के लिए डिजायन किये गये हैं। जिन रोगियों को सघन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) एवं ऑक्सीजन की जरूरत होती है, उन्हें अस्पताल ही ले जाना होगा। उन्होंने यह भी कहा कि रेलवे कोविड कोच के साथ बुनियादी सुविधाएं देगा लेकिन चिकित्सा स्टाफ का इंतजाम दिल्ली सरकार को ही करना होगा।

उत्तर रेलवे के पास विभिन्न स्थानों पर 463 कोविड केयर कोच

उत्तर रेलवे के पास विभिन्न स्थानों पर कुल मिला कर 463 कोविड केयर कोच हैं। उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली के अलावा उन्हें अभी तक किसी अन्य राज्य सरकार की ओर से कोविड कोच उपलब्ध कराने का अनुरोध नहीं आया है। दिल्ली के मुख्य सचिव ने अपने पत्र में रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष से अनुरोध किया था कि पिछले वर्ष कोरोना के कहर के दौरान रेलवे ने जिस प्रकार से कोविड कोच उपलब्ध कराये थे, उसी प्रकार से आनंद विहार एवं शकूरबस्ती रेलवे स्टेशनों पर जितनी जल्दी संभव हो, उतना शीघ्र एवं अधिकतम संभव मात्रा में स्वास्थ्य कर्मी तथा आवश्यक मेडिकल सपोर्ट के साथ कोविड कोच उपलब्ध करायें। उन्होंने पत्र में 5000 कोविड बिस्तर की आवश्यकता व्यक्त की थी।

Related Articles

epaper

Latest Articles