spot_img
28.1 C
New Delhi
Wednesday, September 22, 2021
spot_img

धोनी ने इन 16 शब्दों के साथ कहा इंडियन क्रिकेट टीम को अलविदा

नई दिल्ली /टीम डिजिटल : टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से रिटायरमेंट ले लिया , शनिवार 15 अगस्त आज़ादी के दिन जहाँ भारत को आज़ाद हुए 74 साल हो गए हैं , बड़े ही शानदार तरीके से उन्होंने अपना रिटायरमेंट घोषित किया। रिटायरमेंट के बाद भी महेन्द्र सिंह धोनी (MS Dhoni) अपनी प्रैक्टिस पर पूरा ध्यान दे रहे हैं। दरअसल अगले महीने से शुरु हो रहे आईपीएल (IPL) में धोनी के प्रशंसक उन्हें देखना चाहते हैं।

अब मुझे रिटायर्ड ही समझें-धोनी

धोनी ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर वीडियो अपलोड कर इंडियन क्रिकेट टीम को कहा अलविदा। धोनी ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर 4.07 मिनट के वीडियो को अपलोड किया जिसमें बेकग्राउंड में उनका पसंदीदा गाना- मैं पल दो पल का शायर हूं चल रहा था, इस पोस्ट में धोनी ने अपनी पुरी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की यात्रा की तस्वीरें शेयर की है। आप को बता दें की इसके कुछ ही घंटो के बाद भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना ने भी अपना भी रिटायरमेंट घोषित किया। क्रिकेट के मैदान में दोनो को जोड़ी जय वीरू जोड़ी कहा
जाता था।

जल्द होंगे UAE के लिए रवाना

गौरतलब है कि अगले महीने से यूएई में आईपीएल शुरु होने वाले हैं। जिसके लिए धोनी इस समय काफी मेहनत कर रहे है। धोनी के रिटायरमेंट पर CSK के CEO केएस विश्वनाथन ने कई अटकलों को दुर करते हुए कहा कि कैप्टन कूल बहुत अच्छी फॉर्म में हैं ।

Dhoni के रिटायरमेंट पर PM Modi ने लिखा भावुक पत्र

महेंद्र सिंह धोनी के अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें एक पत्र लिखा जिसमे पीएम मोदी ने धोनी की काफी तारीफ की और उनको आगे के जीवन के लिए शुभकामनाएं दी। इस पत्र को महेंद्र सिंह धोनी ने Twitter पर अपने फैंस के साथ शेअर किया। इस पत्र में पीएम मोदी ने महेंद्र सिंह धोनी के जीवन के कई खास पहलुओं को याद करते हुए लिखा। सिर्फ यही नही पीएम मोदी ने महेंद्र सिंह धोनी के हेयरस्टाइल और उनकी बेटी जीवा के उनके रिश्ते को लेकर कई बातें लिखी। भी लिखा है

 

धोनी का हेलीकॉप्टर शॉट

2004 से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत करने वाले महेंद्र सिंह धोनी ने लगभग 90 टेस्ट मैच और 350 ODI खेले हैं। 2007 टी-20 वर्ल्ड कप को सफलतापूर्वक जीतने के बाद अगले साल यानी 2008 में उन्होनें टेस्ट टीम की कप्तानी संभाली। कप्तान के तौर पर धोनी की सबसे बड़ी सफलता है 2011 विश्व कप है। आज भी उनके फैंस को याद आता है धोनी का वो हेलिकाप्टर शॉट , जो हर मैच में विनिंग शॉट होता था |

Related Articles

epaper

Latest Articles