spot_img
29.1 C
New Delhi
Monday, July 26, 2021
spot_img

UP : ऑनलाइन ऋण मेले में 31,542 MSME इकाइयों को 2505 करोड़ का ऋण बांटे

— एक महीने के अन्दर सभी 75 जिलों में ऋण मेले का आयोजन किया जाएगा

लखनऊ /टीम डिजिटल : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के सूक्ष्म, लघु, मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन विभाग ने रोजगार सृजन के क्षेत्र में अच्छा कार्य किया है। MSME विभाग ने कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में रिलीफ मिलते ही MSME इकाइयों के लिए ऑनलाइन ऋण मेले के आयोजन किया है। उन्होंने कहा कि राज्य स्तर पर आयोजित ऋण मेले की तर्ज पर ही एक महीने के अन्दर सभी 75 जनपदों में भी ऋण मेले का आयोजन किया जाए, इन आयोजनों से प्रभारी मंत्री, स्थानीय सांसद, विधायक आदि को भी जोड़ा जाना चाहिए। मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आयोजित ऑनलाइन स्वरोजगार संगम कार्यक्रम के अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के प्रथम चरण में भी MSME  विभाग द्वारा बैंकों के साथ समन्वय करके MSME इकाइयों को सुदृढ़ करने के लिए बड़ी मात्रा में ऋण वितरण कराया था, जिससे बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर सृजित हुए। सबसे बड़ी आबादी का प्रदेश होेने के बावजूद राज्य में बेरोजगारी की दर सबसे कम है। राज्य सरकार ने 04 लाख से अधिक युवाआं को राजकीय सेवाओं में नियोजित किया है।

MSME के माध्यम से 1.5 करोड़ रोजगार सृजित किये गये। साथ ही, अन्य उपायों के माध्यम से स्वरोजगार के अवसरों को बढ़ावा दिया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के युवाओं में असीम क्षमता है। इन्हें प्लेटफाॅर्म सुलभ कराए जाने की आवश्यकता है। MSME विभाग द्वारा सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम इकाइयों को उपलब्ध करायी गयी सुविधाओं के अच्छे परिणाम प्राप्त हुए हैं। राज्य के युवा एवं यहां वापस आए श्रमिक व कारीगर अब अपनी उद्यमिता से प्रदेश को लाभ पहुंचा रहे हैं। उत्तर प्रदेश आत्मनिर्भर भारत के अभियान को सफलतापूर्वक आगे बढ़ा रहा है। मुख्यमंत्री  ने कहा कि महामारी में संसाधन कम पड़ जाते हैं। कोरोना महामारी के सामने दुनिया की बड़ी-बड़ी ताकतें पस्त हो गयीं, किन्तु प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश ने मजबूती से कोरोना महामारी के विरुद्ध लड़ाई लड़ी तथा दुनिया के तमाम देशों से ज्यादा सुरक्षित स्थिति में रहा। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान केन्द्र सरकार द्वारा दवा, वेण्टीलेटर, टेस्टिंग, वैक्सीनेशन के माध्यम से भरपूर सहयोग किया गया। किसी महामारी के विरुद्ध पहली बार इतनी जल्दी मात्र 09 महीने में वैक्सीन बना ली गयी। 16 जनवरी, 2021 से भारत में हेल्थ वर्कर्स, कोरोना वाॅरियर्स का वैक्सीनेशन प्रारम्भ हो गया। इसके परिणामस्वरूप कोरोना संक्रमण की सेकेण्ड वेव का मजबूती से सामना किया जा सका। आत्मनिर्भर भारत अभियान को साकार करने के लिए एक जनपद एक उत्पाद योजना, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। बड़ी संख्या में महिलाओं के स्वरोजगार कार्यक्रम से जुड़ने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि इससे मिशन शक्ति कार्यक्रम भी सुदृढ़ होगा।

लाभार्थियां को निःशुल्क उन्नत टूल किट भी प्रदान किया

मुख्यमंत्री ने ऑनलाइन स्वरोजगार संगम कार्यक्रम के तहत ऑनलाइन ऋण मेले में 31 हजार 542 MSME इकाइयों को 2505.58 करोड़ रुपये का ऋण वितरण तथा विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अन्तर्गत 05 लाभार्थियां को निःशुल्क उन्नत टूल किट भी प्रदान किया। मुख्यमंत्री द्वारा इस अवसर पर MSME सामान्य सुविधा प्रोत्साहन योजनान्तर्गत 09 जनपदों-भदोही, मुरादाबाद, गाजियाबाद, मीरजापुर, मैनपुरी, मऊ, आगरा, बिजनौर तथा मुजफ्फरनगर में 73.54 करोड़ रुपये की परियोजना लागत से निर्मित होने वाले सामान्य सुविधा केन्द्र (CFC) का शिलान्यास एवं ODOP योजना के पोर्टल का शुभारम्भ भी किया गया।

कोरोना वायरस समाप्त नहीं हुआ, सावधानी बरतें 

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह याद रखा जाना चाहिए कि कोरोना वायरस समाप्त नहीं हुआ है। संक्रमण से बचाव के लिए अभी भी पूरी सतर्कता व सावधानी बरतें जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि जब तक कोरोना समाप्त नहीं होता, तब तक टेस्टिंग की कार्यवाही जारी रहेगी। लोगों का वैक्सीनेशन भी किया जाता रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में राज्य सरकार जीवन एवं जीविका बचाने के लिए प्रतिबद्ध है। कोरोना वैक्सीनेशन इसके संक्रमण के विरुद्ध सुरक्षा कवच है। जीवन को बचाने के लिए वैक्सीनेशन तथा जीविका बचाने के लिए आत्मनिर्भर भारत सबसे महत्वपूर्ण है।

मुख्यमंत्री ने लाभार्थियों से किया संवाद

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के जनपद गोरखपुर के लाभार्थी शम्सुद्दीन मोहम्मद, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना की जनपद वाराणसी की लाभार्थी मंदाकिनी प्रकाश, जनपद ललितपुर के लाभार्भी आकाश जैन, जनपद मथुरा के लाभार्थी अनुष्का, एक जनपद एक उत्पाद वित्त पोषण योजना के जनपद प्रयागराज के लाभार्थी स्वास्तिक गुप्ता तथा जनपद कानपुर देहात के लाभार्थी ज्ञान सिंह कुशवाहा से भी संवाद किया।

स्थानीय हुनर के माध्यम से बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर सृजित

सूक्ष्म, लघु, मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में MSME विभाग ने विगत 04 वर्षों में स्थानीय हुनर के माध्यम से बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर सृजित किये हैं। मुख्यमंत्री जी के मार्गदर्शन में तकनीक का इस्तेमाल करते हुए ऑनलाइन स्वरोजगार संगम कार्यक्रम के माध्यम से MSME इकाइयों को व्यापक पैमाने पर ऋण वितरण किया गया। देश भर में इस पहल की चर्चा हो रही है। प्रधानमंत्री जी द्वारा स्वयं राज्य की MSME इकाइयों को ऑनलाइन ऋण वितरण किया गया है। सिंह ने कहा कि एक जनपद एक उत्पाद योजना के मुख्यमंत्री के विज़न की चर्चा देश में ही नहीं, पूरी दुनिया में हो रही है। इस योजना के माध्यम से प्रदेश में बड़ी संख्या में न केवल रोजगार के अवसर सृजित हुए हैं, बल्कि यहां से होने वाले निर्यात में भी उल्लेखनीय वृद्धि हुई है।

Related Articles

epaper

Latest Articles