32.9 C
New Delhi
Sunday, April 21, 2024

भारतीय रेलवे ने रचा इतिहास, एक साथ पटरी पर उतारेगा 9 वंदेभारत एक्सप्रेस

नई दिल्ली/ खुशबू पाण्डेय  : यात्री सुविधाओं को लेकर तेज गति से काम कर रहा भारतीय रेलवे (Indian Railways) दो दिन बाद एक साथ 9 वंदेभारत ट्रेनों को पटरी पर उतारने जा रहा है। इसमें देश के 9 राज्यों को शामिल किया गया है, जिसमें से दो चुनावी राज्य (राजस्थान एवं तेलंगाना) भी शामिल है। चुनावी राज्य मध्य प्रदेश में पहले ही वंदेभारत का तोहफा मिल चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) खुद रविवार यानी 24 सितंबर को देश को 9 नई वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों की सौगात देंगे। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव (Ashwini Vaishnav) एवं बाकी मंत्री अन्य स्टेशनों पर होंगे। ये देश के कई राज्यों और शहरों को कवर करेंगी और इनके जरिए कई रूट्स पर यात्रियों को आसानी होने वाली है। इसके साथ ही भारतीय रेलवे के इतिहास में एक और सुनहरा अध्याय जुड़ जाएगा जब देश को 9 और सेमी हाई स्पीड ट्रेनों के रूप में 9 वंदे भारत एक्सप्रेस रेलगाड़ियों का तोहफा मिलेगा। इन ट्रेनों के लॉन्च के जरिए देश के कई राज्यों को नई और मॉर्डन ट्रेनों की उपलब्धता मिल पाएगी। प्रधानमंत्री वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों के साथ वर्चुअल माध्यम से हरी झंडी दिखाएंगे।

—24 सितम्बर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिखाएंगे हरी झंडी
—राजस्थान सहित 2 चुनावी राज्यों को मिला आधुनिक ट्रेन का तोहफा
—देश के कई राज्यों और प्रमुख शहरों को कवर करेंगी वीआईपी ट्रेन
—यात्रियों, कारोबारियों एवं स्थानीय लोगों को मिलेगी हाईटेक सुविधा वाली ट्रेन

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक जिन राज्यों में वंदेभारत को चलाया जाना है उसमें राजस्थान, गुजरात, तेलंगाना, ओडिशा, केरल के साथ-साथ पश्चिम बंगाल के हावड़ा और तमिलनाडु के चेन्नई को 2-2 ट्रेन मिलने वाली हैं।

इन नौ वंदेभारत को मिलकर संचालित होने वाली वंदेभारत की संख्‍या 33 पहुंच जाएगी। मौजूदा 23 वंदेभारत का सफल संचालन हो रहा है।ये ट्रेनें पूर्वोत्‍तर के राज्‍यों को छोड़कर सभी राज्‍यों से चल रही हैं। हालांकि पूर्वोत्‍तर में असम से भी वंदेभारत का संचालन हो रहा है। अब तक कुल 35 वंदेभारत एक्‍सप्रेस ट्रैक पर आ चुकी हैं, जिसमें से 33 वंदेभारत एक्‍सप्रेस का संचालन हो रहा है, दो ट्रेन सेट रिजर्व में रखे गए हैं, जिससे जरूरत पड़ने पर इनको इस्‍तेमाल किया जा सके और वंदेभारत की सेवा बाधित न हो सके।
राजस्थान में दो महीने बाद विधानसभा के चुनाव प्रस्तावित हैं। इसलिए यहां विशेष ध्यान दिया गया है। राजस्थान के उदयपुर से जयपुर को वंदेभारत से कनेक्ट किया जाएगा। वंदे भारत ट्रेन के संचालन से मावली के निकट श्रीनाथ जी मंदिर, नाथद्वारा तथा खामलीघाट व गौरमघाट जैसे पर्यटक स्थलों, भीलवाड़ा के कपड़ा उद्योग, अजमेर में स्थित तीर्थराज पुष्कर और ख्वाज़ा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह और किशनगढ़ के मार्बल उद्योग को लाभ और बढ़ावा मिलने की प्रबल संभावना है। इस ट्रेन के संचालन से क्षेत्र में व्यापार, पर्यटन, शिक्षा और चिकित्सा के लिए आवागमन करने वाले यात्रियों को बेहतर और तीव्र रेल परिवहन उपलब्ध होगा और रोजग़ार के नये अवसर उत्पन्न होंगे। राजस्थान में वर्तमान अजमेर-दिल्ली कैंट तथा जोधपुर- अहमदाबाद (साबरमती) वंदे भारत एक्सप्रेस का संचालन किया जा रहा है।
इसी प्रकार सरकार का ओडिशा पर विशेष फोकस है। यहां दूसरी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन मिल रही है,जो पुरी-राउरकेला-पुरी मार्ग पर परिचालित होगी। ट्रेन से पुरी से राउरकेला के बीच की दूरी साढ़े सात घंटे में तय होगी। यह सेमी हाई स्पीड ट्रेन पुरी से सुबह पांच बजे रवाना होगी और दोपहर पौने एक बजे राउरकेला पहुंचेगी। वापसी यात्रा में ट्रेन राउरकेला से दोपहर दो बजकर 10 मिनट पर रवाना होगी और रात्रि नौ बजकर 40 मिनट पर पुरी पहुंचेगी। यह ट्रेन सप्ताह में शनिवार को छोड़कर सभी छह दिन परिचालित होगी।

इन रूटों पर चलेगी वंदेभारत

1-रांची-हावड़ा
2-पटना-हावड़ा
3-विजयवाड़ा-चेन्नई
4-तिरुनेलवेली-चेन्नई
5-राउरकेला-पुरी
6-उदयपुर-जयपुर
7-कासरगोड-तिरुवनंतपुरम
8-जामनगर-अहमदाबाद और
9-हैदराबाद-बेंगलुरु

latest news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

epaper

Latest Articles