spot_img
28.1 C
New Delhi
Wednesday, September 29, 2021
spot_img

दिल्ली में बच्ची के साथ हुई दरिंदगी से प्रधानमंत्री मोदी दुखी, भेजा दूत

-सांसद हंसराज हंस ने परिवार के साथ की मुलाकात, दिया भरोसा
-दोषियों को ऐसी सजा मिलेगी कि पूरा देश देखेगा : सरकार
–सांसद ने पीएम मोदी को सौंपी घटना की पूरी रिपोर्ट, कहा-जल्द मिले इंसाफ
-पीडि़त परिवार गृहमंत्री से जल्द कर सकता है मुलाकात
–इंसाफ मिलने तक परिवार से संपर्क में रहेंगे : हंसराज हं

नई दिल्ली /टीम डिजिटल : राजधानी दिल्ली के नांगल राया इलाके में 9 साल की मासूम बच्ची के साथ हुई दरिंदगी की घटना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गंभीरता से लिया है। पीएम इस घटना को लेकर आहत और दुखी हैं। इस घटना को लेकर सड़क से संसद तक हो रही सियासत के बीच प्रधानमंत्री ने सच्चाई जानने के लिए दिल्ली के अपने एक सांसद हंसराज हंस को मौके पर भेजा। हंसराज हंस पीडि़त परिवार के घर गए और करीब एक घंटे से अधिक समय तक परिजनों से मुलाकात कर दु:ख साझा किया। सांसद हंसराज ने दरिंदगी की शिकार हुई बच्ची के पिता को प्रधानमंत्री की बात पहुंचाई और बताया कि पीएम मोदी इस घटना को लेकर बहुत ज्यादा दुखी हैं। उन्होंने भरोसा दिया है कि बच्ची के दरिंदों को ऐसी सजा दी जाएगी कि हिंदुस्तान उसे याद रखेगा। प्रधानमंत्री मोदी का संदेश लेकर पहुंचे हंसराज हंस ने पीडि़त परिवार को भरोसा दिया कि केंद्र सरकार और खासकर प्रधानमंत्री इस घटना को लेकर बेहद चिंतित हैं और इंसाफ दिलाने को गंभीर हैं। लिहाजा, जल्द से जल्द इसको लेकर सरकार कुछ करेगी। यह बच्ची दलित परिवार की नहीं बल्कि भारत की बेटी है। पीएम के दूत बनकर पहुंचे सांसद ने पीडि़त परिवार को बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि उनके सीने में भी दिल है…। जो भी हुआ, वह बुरा हुआ। लेकिन दरिंदों को ऐसी सजा मिलेगी कि पूरा देश याद करेगा। पीडि़त परिवार ने बताया कि जिंदा बेटी को दरिंदों ने जला डाला। करीब 1 घंटे तक परिवार के साथ मौजूद रहे सांसद हंसराज हंस ने भरोसा दिया कि परिवार के सदस्य अगर प्रधानमंत्री मोदी एवं गृहमंत्री अमित शाह से मिलना चाहते हैं तो वह तैयार हैं। घटना और परिवार का दर्द देखने के बाद सांसद हंसराज ने पूरी रिपोर्ट बनाकर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सौंपा। साथ ही गुहार भी लगाई कि मासूम बेटी के साथ हुई दरिंदगी के आरोपियों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए। मुलाकात के बाद सांसद ने बताया कि अब उनका मिशन है कि पीडि़त परिवार को इंसाफ जल्द से जल्द दिलवाया जाए। उन्होंने आरोप भी लगाया कि कुछ सियासी दल इस घटना को लेकर राजनीति कर रहे हैं, उन्हें इससे दूर रहना चाहिए। वह पीडि़त परिवार के संपर्क में हैं और न्याय मिलने तक संपर्क में बने रहेंगे।
बता दें कि दिल्ली के नांगल राया इलाके में नौ साल की एक बच्ची के साथ बलात्कार के बाद हत्या और उसके बाद जबरन उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस घटना को लेकर हंगामा बढऩे के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी और दिल्ली सरकार के मंत्री पहुंचे। मुख्यमंत्री ने घटना की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश के साथ पीडि़त परिवार को 10 लाख रुपये मदद का ऐलान भी किया।

Related Articles

epaper

Latest Articles