spot_img
29.1 C
New Delhi
Monday, July 26, 2021
spot_img

प्रवासी कामगारों को ढोने में जुटी रेलवे, 29.15 लाख यात्रियों ने कराई बुकिंग

-भारतीय रेलवे ने यूपी-बिहार, बंगाल से 1000 से अधिक ट्रेन शुरू किया
-अगले 10 दिनों 28 जून तक प्रवासी कामगारों एवं यात्रियों ने कराई 29.15 लाख बुकिंग
-उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, बंगाल और ओडिशा से आ रहे हैं दिल्ली-मुबंई

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : कोविड के चलते देशभर में हुए लॉकडाउन के बाद महानगरों को छोड़ अपने गांव गए प्रवासी कामगारों को वापस लाने के लिए भारतीय रेलवे ने नई कवायद शुरू कर दी है। चूंकि अब ज्यादातर शहरों को अनलॉक कर दिया गया है और कोविड के मामले भी कम हो गए हैं, इसलिए कामगारों की जरूरत दोबारा होने लगी है। शहरों के धीरे-धीरे अनलॉक होने के साथ रेलवे कामगारों को वापस लाने में सहायता कर रही है। रेलवे पिछले 7 दिनों के दौरान, प्रवासी कामगारों और अन्य यात्रियों सहित लगभग 32.56 लाख यात्रियों ने लंबी दूरी की मेल एक्सप्रेस ट्रेनों के द्वारा पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, बंगाल और ओडिशा जैसे क्षेत्रों से दिल्ली, मुंबई, पुणे, सूरत, अहमदाबाद और चेन्नई जैसे क्षेत्रों के लिए यात्रा की है।

यह भी पढें… बीच में कैरियर छोड़ चुकी 100 महिला वैज्ञानिकों ने फिर की वापसी

अगले 10 दिनों 28 जून तक के लिए प्रवासी कामगारों और अन्य यात्रियों सहित 29.15 लाख यात्रियों ने पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, बंगाल और ओडिशा जैसे क्षेत्रों से दिल्ली, मुंबई, पुणे, सूरत, अहमदाबाद और चेन्नई सहित विभिन्न गंतव्यों के लिए लंबी दूरी की मेल एक्सप्रेस ट्रेनों द्वारा बुकिंग कराई है।
रेलवे प्रवक्ता के मुताबिक बिहार, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश और ओडिशा जैसे राज्यों से मुंबई, दिल्ली, हैदराबाद, बंगलुरू और चेन्नई जैसे मेट्रो शहरों के लिए प्रवासी कामगारों के सफर को आसान बनाने के लिए, भारतीय रेल मेल एक्सप्रेस स्पेशल, हॉलिडे स्पेशल और समर स्पेशल ट्रेनों का परिचालन कर रही है। इन सभी ट्रेनों को कोविड प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए पूरी तरह आरक्षित ट्रेनों के रूप में परिचालित किया जा रहा है।

यह भी पढें… Election Commission ने लोकसभा चुनाव पर जारी किया एटलस, मिलेगी ऐतिहासिक जानकारी

इन ट्रेनों से यात्रा के लिए आरक्षण काउंटरों पर पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम (पीआरएस) के माध्यम से और ऑनलाइन ई-टिकटिंग प्रणाली द्वारा बुकिंग उपलब्ध है।
बता दें कि 18 जून तक, भारतीय रेल द्वारा 983 मेल एवं एक्सप्रेस और हॉलिडे स्पेशल (कोविड पूर्व के स्तर से 56 प्रतिशत) ट्रेनें परिचालित हो रही हैं। इसके अलावा, काम पर लौटने के इच्छुक लोगों की आवाजाही आसान बनाने के लिए 1,309 समर स्पेशल का भी संचालन किया जा रहा है। ये समर स्पेशल ट्रेनें मुख्य रूप से बिहार, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओडिशा व असम से दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई, पुणे, बंगलुरू आदि बड़े शहरों को संपर्क उपलब्ध कराती हैं। मांग के आकलन और इस क्रम में कामगारों की आवाजाही आसान बनाने के लिए मंडल रेल कार्यालय सक्रिय रूप से विभिन्न उद्योग संगठनों व कारोबारी समूहों के साथ समन्वय बनाए हुए है। समर स्पेशल ट्रेनों का गोरखपुर-मुंबई, भागलपुर-मुंबई, भुवनेश्वर-पुणे, दानापुर-पुणे, बरौनी- अहमदाबाद, पटना-दिल्ली, समस्तीपुर-मुंबई, सियालदह-दिल्ली, रक्सौल-दिल्ली, सहरसा-दिल्ली, दानापुर-सिकंदराबाद, रक्सौल-सिकंदराबाद, पाटलिपुत्र-बंगलुरू, छपरा-मुंबई, गुवाहाटी-बंगलुरू, गोरखपुर-हैदराबाद आदि विभिन्न मूल-गंतव्यों के बीच संचालन हो रहा है।

Related Articles

epaper

Latest Articles