spot_img
28.1 C
New Delhi
Friday, October 22, 2021
spot_img

15 वर्षीय किशोरी से 33 लोगों ने 8 महीने तक करते रहे सामूहिक बलात्कार

—लड़की के प्रेमी ने जनवरी में उससे दुष्कर्म किया और वीडियो बना ली
—वीडियो को लेकर उसे ब्लैकमेल किया और यहीं से शुरू हुआ गैंगरेप
— पीडि़ता ने 33 लोगों के नाम बताए, अब तक 24 को गिरफ्तार

ठाणे /टीम डिजिटल : महाराष्ट्र के ठाणे जिले में पिछले आठ महीनों में 15 वर्षीय किशोरी से अलग-अलग स्थानों पर कथित तौर पर कई बार सामूहिक दुष्कर्म किया गया। पुलिस ने इस संबंध में अभी तक 24 लोगों को गिरफ्तार किया है तथा दो नाबालिगों को हिरासत में लिया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बृहस्पतिवार को बताया कि लड़की की शिकायत पर कल्याण के डोम्बिवली में मनपाडा पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 376 (दुष्कर्म), 376 (एन) (बार-बार दुष्कर्म), 376 (डी) (सामूहिक दुष्कर्म), 376 (3) (16 साल की कम उम्र की लड़की से दुष्कर्म) और बाल यौन अपराध संरक्षण (पोक्सो) अधिनियम की धाराओं के तहत 33 आरोपियों के खिलाफ बुधवार को एक मामला दर्ज किया गया। पत्रकारों से बातचीत में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (पूर्वी क्षेत्र) दत्तात्रेय कराले ने बताया कि ये अपराध इस वर्ष 29 जनवरी से 22 सितंबर के बीच अंजाम दिए गए।

उन्होंने बताया, यह सब तब शुरू हुआ जब लड़की के प्रेमी ने जनवरी में उससे दुष्कर्म किया और घटना की वीडियो बना ली। उसने वीडियो को लेकर उसे ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। बाद में उसके दोस्तों तथा साथियों ने डोम्बिवली, बदलापुर, मुर्बाद और रबाले समेत अलग-अलग स्थानों पर कम से कम चार से पांच बार उससे दुष्कर्म किया। उन्होंने बताया कि मामले की जांच के लिए सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) सोनाली धोले के नेतृत्व में एक विशेष जांच दल का गठन किया गया है। कराले ने बताया, पीडि़ता ने 33 लोगों के नाम बताए हैं। उनमें से 24 को गिरफ्तार कर लिया गया है और दो नाबालिगों को भी इस संबंध में पकड़ा गया है। लड़की की हालत स्थिर बतायी जा रही है। उन्होंने बताया कि अपराध में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। एक अन्य पुलिस अधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार लोगों को बृहस्पतिवार को एक अदालत में पेश किया गया और उन्हें 29 सितंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। नागपुर में पत्रकारों से बात करते हुए, भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने मांग की कि महाराष्ट्र सरकार ऐसे अपराधों को रोकने के लिए विशेष प्रयास करे। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, राज्य में भय का माहौल है। ऐसी घटनाओं की संख्या में वृद्धि चिंताजनक है। फडणवीस ने कहा, शांतिपूर्ण शहर के रूप में जाने जाने वाले डोंबिवली में ऐसी घटना घट रही है जो बेहद चौंकाने वाली है। हम मांग करते हैं कि सरकार इसमें तुरंत हस्तक्षेप करे।दूसरी ओर, शिवसेना नेता और महाराष्ट्र विधान परिषद की उपसभापति नीलम गोरहे ने कहा कि इस घटना का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पीडि़ता को बचाया जाना चाहिए, उसे परामर्श दिया जाना चाहिए और उसका पुनर्वास किया जाना चाहिए।

Related Articles

epaper

Latest Articles