spot_img
29.1 C
New Delhi
Wednesday, June 16, 2021
spot_img

दिल्ली में ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन की शुरूआत, गाड़ी में भी वैक्सीन लगवा सकेंगे लोग

  • मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने द्वारका में किया शुरुआत
  •  दिल्ली में ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर शुरू होने से लोगों को काफी मदद मिलेगी
  • आने वाले कुछ दिनों के अंदर और भी कई ड्राइव थ्रू सेंटर शुरू किए जाएंगे- अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली, टीम डिजिटल: 26 मई, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज दिल्ली के द्वारका सेक्टर-12 स्थित आकाश अस्पताल में ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन की शुरूआत की। अब लोग अपनी कार में बैठे-बैठे भी वैक्सीन लगवा सकेंगे। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर शुरू होने से लोगों को काफी मदद मिलेगी। आने वाले कुछ दिनों के अंदर दिल्ली में और भी कई ड्राइव थ्रू सेंटर शुरू किए जाएंगे। दिल्ली में वैक्सीन की बहुत ज्यादा कमी हो गई है। 18 से 44 साल के युवाओं के लिए वैक्सीन खत्म हो गई।
सीएम ने कहा कि यह समय वैक्सीनेशन सेंटर बढ़ाने का था, लेकिन वैक्सीन की कमी के चलते दिल्ली समेत पूरे देश में सेंटर बंद होते जा रहे हैं, यह अच्छी बात नहीं है। मैं उम्मीद करता हूं कि जल्दी से जल्दी युद्ध स्तर पर वैक्सीन की सप्लाई की जाएगी, ताकि सभी लोगों को वैक्सीन लगाई जा सके।

द्वारका सेक्टर-12 के इस अस्पताल से ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन की शुरुआत की गई
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज द्वारका सेक्टर-12 स्थित आकाश अस्पताल में ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन की शुरूआत की। यह सेंटर आकाश हेल्थ केयर के साथ मिल कर शुरू किया गया है। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यहां पर ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर शुरू हुआ है। मैं उम्मीद करता हूं कि इससे दिल्ली में लोगों को काफी मदद मिलेगी। अगले कुछ दिनों के अंदर इसी तरह के ड्राइव थ्रू सेंटर और भी बहुत सारे शुरू होने वाले हैं, जिससे लोगों को काफी मदद मिलेगी। इस समय दिल्ली में वैक्सीन आपूर्ति की दिक्कत आ रही है। वैक्सीन की बहुत ज्यादा कमी हो गई है। 18 से 44 साल के युवाओं के लिए वैक्सीन दिल्ली में खत्म हो गई है, लेकिन अभी 44 साल से ऊपर वाले ग्रुप के लिए सरकार ने अभी कोविशील्ड की वैक्सीन थोड़े दिनों के लिए बंद की है।
मैं उम्मीद करता हूं कि केंद्र सरकार भी प्रयास कर रही है कि जल्दी से दिल्ली को ज्यादा से ज्यादा वैक्सीन मिलेगी, ताकि हम वैक्सीनेशन की कम हुई गति को बढ़ा सकेंगे। दिल्ली में वैक्सीनेशन के लगभग सारे सेंटर बंद हो गए हैं। यह स्थित सिर्फ दिल्ली में ही नहीं है, बल्कि पूरे देश भर में ऐसा देखा जा रहा है। देश भर में कई राज्यों के अंदर सेंटर बंद होते जा रहे हैं। यह तो ऐसा समय था, जब हमें सेंटर बढ़ाने चाहिए थे। हमें ज्यादा से ज्यादा सेंटर खोलने चाहिए थी, लेकिन देश भर में सेंटर बंद हो रहे हैं, यह अच्छी बात नहीं है। मैं उम्मीद करता हूं कि जल्दी से जल्दी युद्ध स्तर पर वैक्सीन की सप्लाई की जाएगी, ताकि सभी को वैक्सीन लगाई जा सके।

यह भी पढ़े… व्हाट्सएप ने दिल्ली हाईकोर्ट में दायर की आईटी के नए नियम के खिलाफ याचिका

बच्चों के लिए ज्यादा वैक्सीन खरीद कर उनको लगाई जानी चाहिए
सीएम अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने कहा कि हमने केंद्र सरकार को लिखा है कि दिल्ली को प्रतिमाह कम से कम 80 लाख वैक्सीन चाहिए और हमने कई बार उस लेटर को दोबारा भी भेजा हैं। मैंने खुद प्रधानमंत्री को लिखा है। इसके अलावा, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी लिखा है, लेकिन अभी तक वैक्सीन की कमी तो है ही। लॉकडाउन के सवाल पर सीएम ने कहा कि डाउनडाउन को असीमित समय के लिए तो नहीं बढ़ाया जा सकता है। लोगों के आर्थिक गतिविधियां खत्म हो रही है। लोगों के काम-धंधे बंद हो रहे हैं। आने वाले दिनों में हम कितना लाॅकडाउन खोलेंगे और कैसे खोलेंगे, यह देखेंगे। लेकिन अगर इसको वैक्सीनेशन से जोड़ दिया जाए, तो वैक्सीनेशन में पता नहीं अभी कितने दिन लगेंगे।

ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर शनिवार को छत्रसाल में खोला जाएगा
ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन (Drive through vaccination) सेंटर छत्रसाल में शनिवार को खुल रहा है। इसके अलावा एक-दो प्राइवेट अस्पतालों में सेक्टर खुलने वाले हैं। उन्होंने कहा कि ड्राइवर थ्रू वैक्स्ीनेशन सेंटर तो हम जितनी मर्जी चाहें, उतना हर एरिया में खोल देंगे, लेकिन दिक्कत वैक्सीन की है। वैक्सीन होगी, तभी तो हम वैक्सीनेशन सेंटर खोलेंगे। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर माॅडर्ना और फाइजर दोनों ने बोला है कि उनकी वैक्सीन के ट्रायल हो चुके हैं और उनकी वैक्सीन बच्चों के लिए उपयुक्त है। लेकिन अभी तक हमारे देश में उन दोनों वैक्सीन को इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं मिली है। मैं समझता हूं कि केंद्र सरकार को इसमें अब देरी नहीं करनी चाहिए और जितनी भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वैक्सीन उपलब्ध हैं, सबको हमारे देश के अंदर इस्तेमाल करने की इजाजत हो, खासतौर पर बच्चों के लिए जो उपयुक्त वैक्सीन मिल रही हैं। सीएम ने बताया कि मीडिया में रिपोर्ट के अनुसार यह दोनों वैक्सीन बच्चों के लिए उपयुक्त हैं। ज्यादा से ज्यादा इन वैक्सीन को खरीद कर हमारे बच्चों को लगाई जानी चाहिए।

यह भी पढ़े… किसान आंदोलन: 6 महीने पूरे होने पर किसानों ने मनाया काला दिवस, किया शक्ति प्रदर्शन

दिल्ली में ब्लैक फंगस के 620 केस, नहीं मिल रही पर्याप्त दवा
सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि स्पूतनिक वैक्सीन के लिए हमारी बातचीत चल रही है। कल भी स्पूतनिक के साथ हमारे अधिकारियों की बैठक हुई। वे वैक्सीन देना चाहते हैं, लेकिन कितनी वैक्सीन देंगे, इस पर अभी बातचीत चल रही है। सीएम ने बताया कि दिल्ली में ब्लैक फंगस के करीब 620 केस हो चुके हैं, लेकिन हमें दवाई नहीं मिल रही है। परसो भी 400 के करीब डोज मिले थे और कल भी करीब 400 डोज मिले थे, जबकि एक दिन में एक मरीज को करीब 6 इंजेक्शन लगाने होते हैं। अगर 600 मरीज हैं, तो हमें प्रतिदिन 3500 इंजेक्शन चाहिए, लेकिन हमें केवल 400 इंजेक्शन ही मिल पा रहे हैं। इस वजह से ब्लैक फंगस के मरीजों के इलाज में काफी दिक्कत आ रही है।

Related Articles

epaper

Latest Articles