29 C
New Delhi
Sunday, April 11, 2021

फैली अफवाह, कोविड वैक्सीन से नपुंसक होने का खतरा है?

-अफवाहों का बाजार भी गर्म, सरकार ने किया खारिज

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल:  देश भर में 16 जनवरी से कोरोना पर काबू पाने के लिए टीकाकरण अभियान शुरू हो रहा है। इसका शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करने वाले है। लेकिन इस बीच कोराना टीकों को लेकर कई तरह के भ्रम और अफवाहें भी फैलाईं जा रही हैं। कई तरह के साइड इफेक्ट्स के दावों की वजह से लोगों के मन में दुविधा पैदा हो रही है। इस बीच देश के स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने खुद इन अफवाहों को दूर करने की कोशिश की है।
कोरोना टीकों के साइड इफेक्ट्स को लेकर कुछ लोग यह भी दावा कर रहे हैं कि यह नपुंसक बना सकता है। पिछले दिनों एक राजनीतिक पार्टी के नेता की ओर से दावा किए जाने के बाद यह भ्रम और तेजी से फैला। स्वास्थ्य मंत्री ने इसको लेकर कहा, कोई वैज्ञानिक सबूत ऐसा नहीं है जो बताता हो कि कोविड वैक्सीन से महिला या पुरुष में बांझपन आ सकता है। कृपया इस तरह के अफवाहों या अप्रमाणित स्त्रोतों से आने वाली सूचनाओं पर पर ध्यान ना दें।”
कोरोना टीके से किस तरह के साइड इफेक्ट्स?
स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कोरोना टीकाकरण से होने वाले साइड इफेक्ट्स की जानकारी देते हुए कहा, ”कोविड-19 वैक्सीन लगाए जाने के बाद कुछ लोगों को हल्के बुखार, टीके वाली जगह पर दर्द, शरीर में दर्द जैसी शिकायतें हो सकती हैं। ये साइड इफेक्ट्स दूसरे टीकों की तरह ही हैं। ये दिक्कतें कुछ समय में खुद ही दूर हो जाने की उम्मीद है।”
क्या वैक्सीन की वजह से हो सकता है कोरोना?
इस भ्रम को दूर करते हुए स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा, कोविड-19 वैक्सीन लगाए जाने की वजह से आपको कोरोना संक्रमण नहीं हो सकता है। यदि आपको टीका लगने के बाद अस्थायी साइड इफेक्ट के रूप में हल्का बुखार आता है तो इसे कोविड ना समझें।
हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सोमवार को सभी राज्योंध के मुख्यामंत्रियों की बैठक में स्पकष्टर किया था कि अफवाहों पर ध्या न देना होगा। कुछ शरारती तत्व जानबूझ्‍ कर हमारे स्वे्देशी टीके को लेकर अफवाह फैलाने में जुट गए हैं। इसलिए सभी राज्योंा को इस मामले में सावधान रहना होगा।

Related Articles

epaper

Latest Articles