spot_img
28.1 C
New Delhi
Wednesday, September 29, 2021
spot_img

DSGMC चुनाव: परमजीत सरना एवं विक्रम रोहिणी को-आप्शन सदस्य निर्वाचित

-गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय ने किया औपचारिक ऐलान
– चुनाव अधिकारी पर जूता फैंकने वालों को नोटिस जारी

नई दिल्ली/ अदिति सिंह : दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (DSGMC) के आम चुनावों के बाद दो सीटों के हुए को-आप्शन चुनाव में सोमवार को परमजीत सिंह सरना एवं विक्रम सिंह रोहिणी को विजयी घोषित कर दिया गया। दिल्ली गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय ने दोनों सीटों पर विजयी उम्मीदवारों के नामों का औपचारिक ऐलान कर दिया है। परमजीत सिंह सरना शिरोमणि अकाली दल (दिल्ली) की उम्मीदवार थे, जबकि विक्रम सिंह रोहिणी शिरोमणि अकाली दल (बादल) के अधिकृत प्रत्याशी थे।

कोआप्शन चुनाव वीरवार को हुआ था लेकिन अदालती पेंच के चलते रिजल्ट रोक दिया गया था। उस दिन परमजीत सिंह सरना को कुल 18 वोट मिले थे जबकि विक्रम सिंह को 15 एवं जसविंदर सिंह जौली को 12 वोट मिले थे। अकाली दल ने इस चुनाव के लिए अपने चार प्रत्याशी उतारे थे। इसमें से एक प्रत्याशी का नामांकन गुरुमुखी न पढऩे की वजह से खारिज कर दिया गया था। जबकि दूसरे प्रत्याशी ने अपना नामांकन वापस ले लिया था। आखिरी समय तक दो कंडीडेट डटे रहे। कोर्ट के आदेश पर अकाली दल के नवनिर्वाचित प्रीत विहार वार्ड के सदस्य भूपिंदर सिंह भुल्लर के वोट को इसमें नहीं जोड़ा गया है। जानकारी के मुताबिक सूत्रों के मुताबिक परमजीत सिंह सरना को जो 18 वोट मिले हैं उसमें से एक वोट दूसरी वरीयता में विक्रम सिंह को मिली थी, इसलिए चुनाव आयोग ने उस वोट को विक्रम के हिस्से में डाल दिया और विजेता घोषित कर दिया।

जूता फेंकने वाले तलब, पुलिस में दर्ज कराए बयान

कोआप्शन चुनाव के दौरान गुरुद्वारा चुनाव निदेशक के साथ दुव्र्यवहार करने एवं जूता फेंकने के मामले में दर्ज एफआईआर के आधार पर दिल्ली पुलिस ने अकाली दल बादल के कई नेताओं को नोटिस जारी किया है। इसमें खासकर जूता फेंकने वाले कमेटी के नवनिर्वाचित सदस्य आत्मा सिंह लुबाणा व दो अन्य को सोमवार की शाम तलब किया गया था। कमेटी सदस्य आत्मा सिंह लुवाणा अपने कुछ साथियों के साथ सोमवार की शाम आईपी इस्टेट पुलिस स्टेशन पहुंचे और अपना बयाना दर्ज कराया। साथ ही दावा किया कि उन्हेांने जूता मारा नहीं था बल्कि उनको दिखाना चाहते थे, इस बीच किसी ने पीछे से धक्का दे दिया और उनका जूता कार के सीसे में फंस गया। आत्मा सिंह लुवाणा ने गुरुद्वारा चुनाव निदेशक के खिलाफ अपने बयान भी दर्ज कराए।

सिरसा, कालका सहित 6 लोग हैं नामजद

गुरुद्वारा चुनाव निदेशक नरिंदर सिंह ने आईपी एस्टेट थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। इसमें मुख्य आरोपी के रूप में मनजिंदर सिंह सिरसा, हरमीत सिंह कालका,कमेटी सदस्य आत्मा सिंह लुबाया,रमनदीप थापर,भूपिंदर सिंह, गगन सिंह सहित 6 लोगों के नाम दर्ज हैं। इसमें आरोप है कि शिरोमणि अकाली दल (बादल) के तिलक नगर से नव निर्वाचित सदस्य आत्मा सिंह लुबाणा ने गुरुद्वारा चुनाव निदेशक नरिंदर सिंह पर जूता फेंका था। इसके अलावा अन्य सदस्यों ने भी वहां पर जमकर हंगामा किया।

Related Articles

epaper

Latest Articles