spot_img
21.1 C
New Delhi
Tuesday, October 19, 2021
spot_img

दिल्ली में महिलाओं के लिए स्पेशल मोहल्ला क्लीनिक बनाए जाएंगे

—महिलाएं अपने इलाके में इलाज करा सकेंगी-अरविंद केजरीवाल
—दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में फ्री में वैक्सीन लगवा सकती हैं महिलाएं
—दिल्ली के हर नागरिक को हेल्थ कार्ड दिया जाएगा

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : सीएम अरविंद केजरीवाल ने वैक्सीन के आने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि वैक्सीन आ गई है और वैक्सीन के जरिए हम कोरोना का मात दे रहे हैं। दिल्ली में स्थित प्राइवेट अस्पतालों में शुल्क देकर आप वैक्सीन लगवा सकते हैं, लेकिन दिल्ली में जो भी फ्री में वैक्सीन लगवाना चाहता है, वो सरकारी अस्पताल में जाकर फ्री में वैक्सीन लगवा सकता है। दिल्ली की जनता को फ्री में वैक्सीन लगवाने का दिल्ली सरकार का संकल्प है। पहली बार देश के अंदर महिलाओं के लिए स्पेशल क्लिनिक्स बनाया जाएंगे। अभी तक हमने दिल्ली में 496 मोहल्ला क्लीनिक बनवाए हैं, अब महिलाओं के लिए स्पेशल मोहल्ला क्लीनिक बनवाए जाएंगे, ताकि महिलाएं अपने इलाके के अंदर अपना इलाज करवा सकें। दिल्ली के हर नागरिक को हेल्थ कार्ड दिया जाएगा। जिसके बाद किसी को अपना एक्स-रे या एमआरआई अलग से रखने की जरूरत नहीं है।

सारा डेटा क्लाउड के ऊपर होगा। अभी हम इसे सरकारी अस्पताल में लागू करेंगे। इसके बाद निजी अस्पतालों में भी शुरू करेंगे। इसके बाद आप केवल अपना हेल्थ कार्ड लेकर जाएंगे और उस पर डेटा उपलब्ध होगा। दिल्ली सरकार एक बहुत ही विस्तृत स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन बना रही है। इसकी मदद से आपको डॉक्टर से मिलने का समय भी मिल सकता है और आपको लाइनों में लगने की जरूरत नहीं होगी। सब कुछ हेल्थ मैनेजमेंट सिस्टम के उपर होगा। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दुनिया का पहला वर्चुअल दिल्ली मॉडल स्कूल बनाने की कल्पना इस बजट के अंदर की गई है। जिसमें क्लास रूम की दीवारें नहीं होगी, आप कहीं से कभी भी, किसी भी वक्त पढ़ सकते हैं, यह अपनी तरह का पहला स्कूल होगा, जो दिल्ली में शुरू किया जाएगा। इसके अलावा और भी बहुत सी योजनाएं हैं। पानी, परिवहन और पर्यावरण सहित अन्य क्षेत्रों पर इस बजट के अंदर ध्यान रखा गया है।

2048 का ओलंपिक गेम दिल्ली के अंदर होना चाहिए

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वित्त मंत्री ने जो विजन दिया कि आज दिल्ली का प्रति व्यक्ति आय जब हम अपने देश के अंदर देखते हैं, तो बहुत अच्छा है, लेकिन जब हम दुनिया के अंदर देखते हैं, तो बहुत अच्छा नहीं है। इसलिए हमारा 2047 का सपना है कि दिल्ली का प्रति व्यक्ति आय सिंगापुर के बराबर करना है, उसके लिए हमें दिल्ली का प्रति व्यक्ति आय 16 गुना बढ़ाना होगा। यह आय हम लोग बढ़ाएंगे और इसके लिए जो भी हमें करने की जरूरत होगी, हम लोग करेंगे। इस बजट के अंदर विजन दिया गया कि 2048 का ओलंपिक गेम दिल्ली के अंदर होना चाहिए, उसके लिए जो भी करने की जरूरत होगी, उसके लिए हम करेंगे। 2048 के ओलंपिक गेम के लिए दिल्ली बिड करेगा। इसके लिए जो भी जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ाने की जरूरत है, वो हम बढ़ाएंगे।

दिल्ली में 500 जगहों पर बड़े-बड़े तिरंगा झंडा लगाए जाएंगे

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारी 75 साल की आजादी को मनाने के लिए ढेर सारे कार्यक्रमों को आयोजित करने का इसके अंदर रूपरेखा तैयार की गई है। हमारे शहीदों को याद किया जाएगा। खासकर शहीद-ए-आजम भगत सिंह और बाबा साहब डाॅ. अंबेडकर के जीवन और उनके संदेश, उनकी लेखनी को जन-जन तक पहुंचाने के लिए ढेरों कार्यक्रम किए जाएंगे, इसके लिए विशेष तौर पर बजट में प्रावधान किया गया है। कनाॅट प्लेस की तरह ही दिल्ली के अंदर 500 जगहों पर बड़े-बड़े तिरंगा झंडा लगाए जाएंगे। जब हम तिरंगे की तरफ देखते हैं तो हमारे अंदर एक तरह से देशभक्ति की भावना आती है और हम देशभक्ति की भावना से ओत प्रोत होते हैं। इसलिए दिल्ली के अंदर जगह-जगह तिरंगा लगाए जाएंगे ताकि जनता के अंदर देशभक्त की भावना का संचार हो सके।

शिक्षा को एक जन आंदोलन बनाया जाएगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मौके पर शिक्षा को जन आंदोलन बनाया जाएगा। एक तरफ अभी जब हम शिक्षा की बात करते हैं, तो स्कूलों और कालेजों की बात करते हैं। स्कूल और कॉलेज में तो शिक्षा का स्तर पर काफी उंचा हो रहा है और इस पर सरकार लगी हुई है, लेकिन यह एक ऐसी चीज है, जो सिर्फ सरकार के करने से नहीं होगा, इसके लिए यूथ फॉर एजुकेशन कार्यक्रम शुरू किया जाएगा। जिसमें दिल्ली और देश के युवाओं को जोड़ा जा रहा है। जिन बच्चों के पास संसाधन नहीं हैं। मसलन, 10वीं और 12वीं का जो बच्चा जानना चाहता है कि वो अपने कैरियर में क्या-क्या कर सकता है, उस बच्चे को गाइड करने के लिए हम उन युवाओं को जो पास आउट होकर नौकरियां कर रहे हैं, उन्हें नामांकित करेंगे, ताकि वे फोन पर इन बच्चों को गाइड कर सकें। यूथ फॉर एजुकेशन कार्यक्रम के जरिए शिक्षा को एक जन आंदोलन बनाया जाएगा।

Related Articles

epaper

Latest Articles